Panchakki – Aurangabad | पनचक्की – औरंगाबाद

महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में  एक बड़ा आकर्षण है पनचक्कीपनचक्की, जिसे पानी मिल के नाम से भी जाना जाता है, इसका नाम उस चक्की से लिया जाता है जो तीर्थयात्रियों के लिए अनाज पीसती थी। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में स्थित यह स्मारक मध्यकालीन भारतीय वास्तुकला में डाली गई वैज्ञानिक विचार प्रक्रिया को प्रदर्शित करता है। यह एक पहाड़ पर एक झरने से नीचे लाए गए पानी के माध्यम से ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। अब इस पनचक्की को देखने पर्यटक बड़ी संख्या में आते है।

Continue reading “Panchakki – Aurangabad | पनचक्की – औरंगाबाद”

Daulatabad Fort, Aurangabad – History | दौलताबाद किला, औरंगाबाद – इतिहास

दौलताबाद किला महाराष्ट्र के औरंगाबाद से करीब 16km की दूरी पर स्थित है। मध्यकालीन भारत के सबसे ताकतवर किला के रूप में प्रसिद्ध दौलताबाद किले को पहले ‘देवगिरी’ के नाम से जाना जाता था। यादवकाल में निर्मित इस किले को लेकर इतिहासकारों का कहना है कि देवताओं के पर्वतों पर बसे होने के कारण इसका नाम ‘देवगिरी’ पड़ा। देवगिरी वर्तमान में एक छोटा सा गांव है। मुगल शासनकाल के दौरान कुछ समय के लिए दौलताबाद को देश की राजधानी बनाया गया था। उस दौरान पूरे देश का कामकाज दौलताबाद के किले से संचालित होता था।

Continue reading “Daulatabad Fort, Aurangabad – History | दौलताबाद किला, औरंगाबाद – इतिहास”

How to Reach Mahakaleshwar Jyotirlinga ?| महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुंचे ?

कहते हैं भगवान शिव के अनेक रूप हैं। शिव की आराधना करने से आपकी हर मनोकामना पूर्ण होती है। भगवान शिव देशभर में अनेक स्थानों पर ज्योतिर्लिंग के रूप में विराजमान हैं। भारत देश में 12 प्रमुख ज्योतिर्लिंग हैं, जिनमे से एक है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग है। मध्य प्रदेश राज्य में रुद्र सागर झील के किनारे बसे प्राचीन शहर उज्जैन में स्थित महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग हिंदुओं के सबसे पवित्र और उत्कृष्ट तीर्थ स्थानों में से एक है। महाकालेश्वर मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यह एक अत्यंत पुण्यदायी मंदिर है। माना जाता है कि इस मंदिर के दर्शन मात्र से मोक्ष की प्राप्ति होती है। यहां पर आधुनिक और व्यस्त जीवन शैली होने के बाद भी यह मंदिर यहां आने वाले पर्यटकों को पूरी तरह से मन की शांति प्रदान करता है।

Continue reading “How to Reach Mahakaleshwar Jyotirlinga ?| महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुंचे ?”

Vastu Tips -7 Horse Painting | वास्तु शास्त्र-दौड़ते हुए घोड़ों की तस्वीर

वास्तु शास्त्र घर, भवन अथवा मन्दिर निर्माण करने का प्राचीन भारतीय विज्ञान है। हमारे दैनिक जीवन में जिन वस्तुओं का उपयोग होता है, उन वस्तुओं को किस प्रकार से रखा जाए वह वास्तु है वस्तु शब्द से वास्तु का निर्माण हुआ है। ज्योतिष शास्त्र में वास्तु को सबसे ज्यादा माना गया है।

Continue reading “Vastu Tips -7 Horse Painting | वास्तु शास्त्र-दौड़ते हुए घोड़ों की तस्वीर”

Seven Wonders of the World -दुनिया के सात अजूबे

दुनिया के सात अजूबे ऐसे प्राकृतिक और मानव निर्मित संरचनाओं का संकलन है। जो अपनी अद्भुत कला संरचना और खूबसूरती से मनुष्य को आश्चर्यचकित करती है।

Continue reading “Seven Wonders of the World -दुनिया के सात अजूबे”