Lonavala – Hill Station | लोनावाला – महाराष्ट्र का प्रसिद्ध हिल स्टेशन

लोनावाला महाराष्ट्र का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जो कि मुंबई और पुणे के बीच में स्थित है। लोनावाला मुंबई से 97km और पुणे से केवल 64km दूर है। समुद्र तल से लगभग 2000 फीट की ऊंचाई पर स्थित लोनावाला को सहयाद्रि श्रेणी का गहना” भी कहा जाता है। शहर की भाग-दौड़ और शोर से दूर यहाँ की शांत जलवायु, शांत वातावरण और स्वच्छ हवा लोनावाला को छुट्टियां बिताने के लिए एक परफेक्ट हॉलिडे डेस्टिनेशन बनाती  है।

लोनावाला शब्द संस्कृत के दो शब्दों लेन और अवली से मिल कर बना है जहां लेन का अर्थ पत्थरों को काट कर बनाया “आश्रय स्थल” है वहीं अवली का अर्थ “श्रृंखला” है, इस प्रकार लोनावला का अर्थ लेनों की एक श्रृंखला से है।प्राचीन समय में, लोनावाला में यादव वंश का शासन था। बाद में मुगलों ने इसे अपने कब्जे में ले लिया और इस क्षेत्र के सामरिक महत्व का एहसास करते हुये लोनावाला पर काफी समय तक अपना शासन बनाए रखा। 1871 में बॉम्बे प्रेज़ीडेसी के तत्कालीन गवर्नर लॉर्ड एल्फिंस्टोन ने लोनावाला और खंडाला नामक दोनों पर्वतीय स्थलों की खोज की। इसकी खोज के समय यह एक घने जंगल के रूप में था और केवल कुछ मुट्ठी भर लोग ही यहाँ बसे थे।

लोनावाला को झीलों का जिला कहते हैं, यहाँ बहुत सारी झीलें है जिनमें लोनावला झील, तिगौती झील, मानसून झील और वाल्वन झील प्रमुख हैं। वाल्वन झील पर बना वाल्वन बांध एक बेहतरीन पिकनिक स्पॉट है। देश की नामी कंपनी टाटा ने भी लोनावाला में अपनी कईं झीलें निर्मित की हैं जिनसे बिजली उत्‍पन्‍न की जाती है। लोनावाला खासतौर पर अपनी मिठाई चिक्की के लिए भी बेहद मशहूर है जो मूंगफली, तिल, काजू, बादाम, पिस्‍ता, अखरोट आदि को गुड़ या शक्कर में मिलाकर बनाई जाती हैं। साथ ही लोनावला की ‘ब्रिटल कैंडी’ भी काफी प्रसिद्ध है।

लोनावला के आसपास कई किले भी देखने लायक हैं जिनमें लौहगढ़, विशपुर, तुंग किला और तिकोना किला प्रमुख हैं। लौहगढ़ एक अपराजेय किले के तौर पर जाना जाता है, वहीं तिकोना किले के शिखर पर बौद्ध गुफा और जल कुंड हैं। इसके पास ही मौजूद पावना झील में तिकोना किले का प्रतिबिंब बेहद खूबसूरत दिखाई देता है जबकि तुंग किले की सुरक्षा प्राचीर से लौहगढ़, विशपुर, तिकोना किला और पावना झील का मनोहारी दृश्य बेहद सुंदर नजर आता है।

लोनावला में घूमने के लिए अन्य स्थान –
Other places to visit in Lonavla –

  • बुशी डैम (Bushi Dam) – लोनावला से 6km की दूरी पर स्थित बुशी डैम सैलानियों के बीच एक पिकनिक स्पॉट के तौर पर काफी लोकप्रिय है यहां के नजारे देखने दूर-दूर से सैलानी आते हैं। यहां बरसात के दिनों में काफी ज्यादा भीड़ लगती है, जब इस डैम में पानी भर जाता है।
  • रेवुड पार्क और शिवाजी उद्यान (Ryewood and shivaji park)  – लोनावला के मुख्‍य बाजार के ठीक पीछे स्थित रेवुड पार्क एक खूबसूरत जैविक उद्यान है। शिवाजी उद्यान में आपको बर्ड सेंक्चरी भी देखने को मिलेगी, जहाँ तरह तरह के पक्षी मौजूद हैं।
  • वैक्स म्यूजियम (Wax Museum) – लोनावाला जाने वाले सभी यात्री यहां बने वैक्स म्यूजियम जरूर जाते हैं। इस म्यूजियम में आध्यात्मिक गुरु, राजनीतिज्ञ, संगीतकार, क्रिकेटर और अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त व्यक्तियों की मोम की मूर्तियां सुशोभित हैं। इन मूर्तियों में कपिल देव, विवेकानंद, हिटलर, सद्दाम हुसैन, ए. आर. रहमान, राजीव गाँधी, अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय, और माइकल जैक्सन की मूर्तियां शामिल हैं।
  • ड्यूक नोज (Duke’s Nose) –  ड्यूक नोज को नागफनी के नाम से भी जाना जाता है इसका नाम एक ब्रिटिश गर्वनर के नाम पर पड़ा। खंडाला स्‍टेशन से इसके शिखर पर आसानी से पैदल चढ़ा जा सकता है । इस पहाड़ी के समीप ही सौसेज हिल और आईएनएस शिवाजी है। सौसेज हिल पर एक छोटा सा जंगल है , आपको ट्रैकिंग के साथ ही अलग-अलग और विभिन्न तरीके के पक्षियों को नजदीक से देखने का भी मौका मिलता ।
  • राजमची पाइंट (Rajmachi Point)–  खूबसूरत वादियों के बीच बसा राजमची लोनावला से लगभग 6 किमी की दूरी पर स्थित है। इसका यह नाम यहां के गांव राजमची के कारण पड़ा है। यहां शिवाजी महाराज के किले के साथ-साथ वर्ल्ड लाइफ सेंक्चुरी भी देखने को मिलेगी। राजमाची किला मुख्यतः दो किलों से मिलकर बना है, जिसमें श्रीवर्धन और मनरंजन शामिल हैं।
  • कार्ला तथा भाजा की गुफाएं (Karla and Bhaja Caves) कार्ला तथा भाजा की गुफाएं मालावी स्‍टेशन से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मालावी के दाई तरफ भाजा तथा बाई तरफ कार्ला गुफाएं है। कार्ला गुफा यहां की सबसे पुरानी गुफायों में से एक हैं। पत्थरों को काटकर बनाई गई कार्ले की गुफाओं के स्तंभों पर बेहतरीन नक्‍काशी की गई है। भाजा की गुफाओं का निर्माण दूसरी शताब्‍दी ईसा पूर्व में हुआ था।यहां की गुफाएं कार्ले की गुफाओं से ज्‍यादा सुरक्षित अवस्‍था में है। यह गुफाएं रॉक-कट वास्तुकला से निर्मित हैं।
  • तुंगारी झील (Tungarli Lake) – तुंगारी झील का निर्माण बिर्टिश साम्रज्य के दौरान, बारिश के पानी को सरंक्षित करने के लिए हुआ था। मानसून के दौरान इस झील में काफी पानी इकट्ठा हो जाता है। इसमें पर्यटक नौकायान का लुत्फ उठा सकते हैं।
  • कुने वॉटरफॉल (Kune Waterfalls) – लोनावला में 200 मीटर की कुल ऊँचाई पर स्थित कुने वॉटरफॉल भी काफी खूबसूरत है।
  • नारायणी धाम मंदिर (Narayani Dham Temple) – साल 2002 में निर्मित नारायणी धाम मंदिर भी यहाँ काफी फेमस है। इस भव्य चार मंजिला मंदिर को देखने काफी लोग आते हैं।
  • लायन पॉइंट (Lion’s Point) – लोनावाला से 12 किमी दूर स्थित लायन पॉइंट भी देखने के लिए खूब भीड़ लगती है। यह बुशी डैम और आमबी घाटी के बीच स्थित है। यह तेज हवाओं के बीच लोग खूब सेल्फी लेते हैं। और भी कई जगहें जो लोनावाला में आप देख और घूम सकते हैं।
  • एंबी वैली (Aamby Valley) – लोनावाला से 23km की दूर मुंबई-पुणे हाईवे पर पहाड़ियों के बीच बसा एंबी वैली एक हाई-फाई शहर है। यह अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में मशहूर है। एंबी वैली मुलसी डेम के पास कुल 10,600 एकड़ में फैली हुई है। इसके चारों ओर पहाड़ी इलाका है

लोनावाला के आसपास के स्थान
Places to Visit Near Lonavala

लोनावाला जाने के लिए सबसे अच्छा समय
Best Time To Visit Lonavala

आप लोनावाला साल भर में कभी भी जा सकते हैं। लोनावला में झरनों या झीलों के हिसाब से बरसात के मौसम में आना सही है, पर इसके प्राकृतिक नजारों को देखने की बात करें तो इसके लिए अक्टूबर से मई के बीच का महीना काफी अच्छा होता है। क्योंकि इन दिनों का मौसम काफी सुहावना रहता है। जिससे आपका मजा कई गुना बढ़ जाता है।

लोनावाला तक कैसे पहुंचे –
How To Reach Lonavala –

हवाई मार्ग – लोनावाला का निकटतम हवाई अड्डा पुणे (PUNE) 70km, मुंबई (Mumbai) 90 km है। वहाँ से आप लोनावाला के लिए आप टैक्सी किराए पर लेकर लोनावाला पहुंच सकते हैं।

रेलमार्ग – पुणे से प्रत्येक 2 घंटे पर लोनावाला के लिए लोकल ट्रेन चलती हैं। ट्रेन के जरिए मुंबई से यहां पहुंचने में 2.5 घंटे लगते हैं जबकि पुणे से यहां डेढ़ घंटे में पहुंचा जा सकता है।

सडक मार्ग – लोनावाला मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर है और सड़क के मार्ग द्वारा दूसरे शहरों से भी जुड़ा हुआ है।

Leave a Reply