Immunity Boosting Tips | रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आसान उपाय

इम्युनिटी को हिंदी में रोग प्रतिरोधक क्षमता या प्रतिरक्षा कहा जाता है। ये किसी भी प्रकार के सूक्ष्मजीवों (रोग पैदा करने वाले- बैक्टीरिया, वायरस आदि) से शरीर को लड़ने की क्षमता देती है, बीमारी छोटी हो या बड़ी इम्यून सिस्टम की बात हर कहीं आती है।

अगर हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत(Strong Immune System) है, तो हम किसी भी बीमारी को हरा सकते हैं। संक्रमण, इंफेक्शन से जुड़ी बीमारियों के लिए हमारा इम्यूनिटी का बेहतर होना काफी जरूरी होता है यदि  हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है तो हमारे रोग के संक्रमण की चपेट में आने की संभावना बढ़ जाती है। कमजोर इम्यून सिस्टम के कारण हमें जल्दी थकान का अनुभव होता है, घबराहट और बेचैनी होती है, पेट खराब रहने, सर्दी-जुकाम से पीड़ित होने की शिकायत रहती है।

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में खाद्य पदार्थ अहम भूमिका निभाते हैं। ताजे फल और सब्जियों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं और ये विभिन्‍न रोगों से शरीर को बचाते हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि आहार, व्यायाम, उम्र, मानसिक तनाव और अन्य कारणों का भी इम्यून सिस्टम पर असर होता है, इसके अलावा सामान्य स्वस्थ जीवनशैली इम्युनिटी को बढाने का एक बहुत अच्छा तरीका है।

इम्युनिटी के प्रकार- 

इम्युनिटी दो प्रकार की होती है- इनेट और एडेटिव इम्युनिटी (Immunity Meaning in Hindi)

  • इनेट इम्युनिटी: यह व्यक्ति को रोगों के प्रति सुरक्षा देती है परन्तु यह दीर्घकालिक नहीं होती।
  • एडेटिव इम्युनिटी:यह व्यक्ति को रोगों के प्रति सुरक्षा देती है साथ ही यह विशिष्ट रोग जनकों के खिलाफ दीर्घकालिक सुरक्षा भी देती है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आसान उपाय जिन्हें अपनाकर आप अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए रख सकते हैं-

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाए रखने के लिए सबसे जरूरी विटामिन, विटामिन-C है जिसे आपको अपनी डायट में शामिल आपको। विटामिन-C आपको कीवी, नींबू, संतरा, अंगूर, पपीता, स्ट्रॉबेरी, आंवला जैसे फलों के माध्यम से बड़ी आसानी से मिल सकता है, जिससे आपकी इम्यूनिटी सक्रिय रूप से मजबूत होगी।
  • विटामिन-D वायरल संक्रमण एवं श्वांस सम्बन्धी संक्रमण को रोकने में लाभदायक साबित होता हैं ।विटामिन-D आपको रोज सुबह सूर्योदय के बाद थोड़ी देर तक सूर्य से निकलने वाली किरणों के जरिए प्राप्त होती है। सूर्य को ही विटामिन डी का सबसे प्रबल स्रोत माना जाता है।
  • ग्रीन टी एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है इसलिए इसका प्रयोग शरीर की इम्युनिटी को बढाने, वजन और मोटापे को कम करने में किया जाता है।  ग्रीन टी आपके मेटाबोलिज्म को बढ़ती है और इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करती है।
  • इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अच्छी नींद लेना भी जरूरी है। नींद स्वास्थ्य के सबसे कम और अनदेखे पहलुओं में से एक है। गुड स्लीप इम्यूनिटी को बढ़ाता है और किसी भी बीमारी को जल्दी मात देने में मदद करता है।
  • अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए तरबूज, मेथी, गेहूं, दही, पालक, गाजर, टमाटर, मीठे आलू, ब्रोकोली, लहसुन, अदरक, अनार का रस, संतरा , अंगूर , केला , आंवला ,इत्यादि जैसे इम्युनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
  • लहसुन भी ऐंटी-एलर्जिक है। रोज सुबह दो लहसुन की कली खाने से शरीर में ऐसे एंजाइम्स ऐक्टिवेट होते हैं, जो एलर्जिक रिऐक्शन से बचाने में सक्षम होते हैं।
  • हल्दी और अदरक में पाया जाने वाला ऐंटी-ऑक्सिडेंट और ऐंटी-इंफ्लेमिट्री कंपाउंड एलर्जी से लड़ता है। एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर गरम दूध में और अदरक की चाय भी लाभकारी है।
  • अलसी हमारे शरीर के लिए बहुत अच्छा इम्युनिटी बूस्टर है। आलसी का नियमित सेवन करने से शरीर को कई प्रकार के रोगों से छुटकारा मिलता है। अलसी में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड , ओमेगा-3  और फैटी एसिड  होता है, जो की हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • नियमित व्यायाम हमारे ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ा कर हमारी इम्युनिटी को बढ़ता है।

इम्युनिटी कम होने के कारण-

  • रिफाइंड शुगर और प्रोसेस्ड फ़ूड का बहुत लम्बे समय तक और बहुत ज्यादा सेवन आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर बना सकता है, जिसके कारण बीमारियां होने का खतरा बढ़ सकता है।
  • धूम्रपान, तम्बाकू और शराब का सेवन इम्युनिटी में बाधा डाल सकता है। जिससे आपका शरीर कई बिमारियों से इन्फेक्टेड हो सकता है, इसलिए इन सभी का त्याग करे और अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएं।
  • सुबह के नाश्ते की अनदेखी करना बहुत सारे लोगों की आदत होती है। इससे न केवल ऐसे लोगों की सेहत खराब होती है, बल्कि इसका असर उनकी इम्यूनिटी पर भी पड़ता है।
  • मोटापा बहुत सारी बीमारियों की वजह है। सच तो यह है कि मोटे लोग पतले लोगों के मुकाबले पेट से जुड़ी बीमारियों से ज्यादा ग्रसित होते हैं। मोटापे की वजह से आप डायबिटीज और रक्तचाप जैसी समस्याओं से भी पीड़ित हो सकते हैं। मोटापे की वजह से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम होने लगती है।

Leave a Reply